आंटी ने चोधने पर मजबूर कर दिया - Antarvasna.Us
AntarVasna.Us
Free Hindi Sex stories
Only for 18+ Readers

आंटी ने चोधने पर मजबूर कर दिया

» Antarvasna » Hindi Sex Stories » आंटी ने चोधने पर मजबूर कर दिया

Added : 2017-02-22 00:14:38
Views : 4610
» Download as PDF (Read Offline)
Share with friends via sms or email

You are Reading This Story At antarvasna.us
अपनी कहानिया भेजे antarvasna.us@gmail.com पर ओर पैसे क्माए

मैं गुजरात बरोडा से हू मेरी उमर 29 है मेरा खुद
का बिज़्नेस है मैं आपको मेरी साची कहानी बताने
जा रहा हू मेरी लंबाई 5"9 की है मैं थोडा सा गोरा हू ये
बात उन दिन की है जब मैं 12वी मे पढ़ता था एग्ज़ॅम
ख़तम हो गये थे हम सब दोस्त क्रिकेट खेलते थे
मेरा एक दोस्त था नीरज हुमारा क्रिकेट ग्राउंड उस के
घर के पास ही था हम सब खेलने के बाद या
इंटर्वल मे पानी पीने उसके घर पे जाते थे एक
दिन मैं भी वाहा पर पानी पीने गया तो उस के
घर के दरवाजे थोड़े से खुले हुए थे मैं वाहा
जा पहुँचा तो देखा की आंटी कराब हालत मे ही सो
गयी थी उनको देख के मेरा लोड्‍ा उठ गया उनका घगरा
घुटनो तक आ गया था और सारी भी निकल गयी थी
ब्लाउस खुला दिख रहा था मैने दरवाजा खटख्टाया
और आंटी जाग गयी वो ऐसी हालत देख के चोंक गई
मैने आंटी से पानी माँगा वो पानी लेकर
आई मैं पानी पीकर चला आया 2 दिन बाद मैं
नीरज से मिलने उसके घर गया उसका दरवाजा खुला
था मैं घर मे गया तो सिर्फ़ आंटी ही थी मैने
पूछा आंटी नीरज कहा गया है तो उन्होने कहा की
नीरज उसके पापा के साथ सूरत गया है 2 दिन बाद
लौटेंगा क्या काम था मैने कहा नही आंटी बस
ऐसे ही मिलने आया था तो आंटी मुजसे क़ाहहा की विसू
तुम्हारे पास टाइम है तो मेरा एक काम कर दो ना
मैने कहा बोलो आंटी क्या काम है मेरे पैरो मे
दर्द है बाज़्ज़र से मूव ला दे मैने कहा ठीक है
आंटी मैं बाज़्ज़र गया और मूव लेके आया मैने
कहा चल आंटी मैं घर जाता हू ठीक है आंटी बोली
शाम को मेरे घर पर आना थोड़ा सा काम है
मैने कहा ठीक है आंटी आईं शाम को आंटी के घर
गया आंटी सोई हुई थी वो बोली आओ मैं अंदर
गया मैने कहा कैसा लग रहा है आंटी वो बोली बोहत
दर्द हो रहा है विसू थोड़े से पैर दबा देना मैने
कहा ठीक है आंटी के पैर दबाने लगा वो मेरी तरफ
गेंड करके सो गयी मैने सारी घुटनो तक
उठा दी और दबाने लगा मैं धीरे धीरे हाथ
उपर फेरने लगा आंटी बोली थोड़ा और उपर दबा
हााअ.....हा.......आंटी की झांग देख कर मेरा लोड्‍ा
खड़ा हो गया ओर एक दम रोड क जैसे टाइट हो
गया की किसी की भी चूत को अंदर तक मसल दे फिर
आंटी बोली कमर और पीते मे भी दबा
देना आंटी ने अपना ब्लाउस खोल दिया मैने
कहा क्या कर रही हो आंटी जी आप
फिर आंटी बोले वो ठीक से मालिस हो सके इसलिए
उतार दिया ऐसे ठीक से मजा न्ही आता आराम न्ही मिलता ना मैने
आंटी के बूब्स देखे क्या मस्त थे ब्स फिर क्या फिर तो मेरा लोड्‍ा मेरे
कपड़े फाड़ने को हो गया ओर मे एकदम सिड्यूस होगया
इतना की ब्स अभी आंटी क बूब्स आम की तारह
चूसने का मॅन हो गया आंटी ने अपना घाघरा भी
उतार दिया मैं म्न ही मान सोचने ल्गा की आज तो
आंटी पूरी चूड़ने क मूड मे ल्ग रही हैमिने ख्हा आंटी
क्या कर रही हो वो बोली अज्ज ना वो यहा
घर पे कोई नही है आजा विसू मेरी प्यास बुझा दे
पर फिर मुझे ल्गा आखी जो ब हो है तो मेरे दोस्त की
मा ही ना मुझे ऐसा न्ही क्रना चाहिए फिर मे थोड़ा थोड़ा
एमोशनल होने ल्गा ओर ये ग़लत है तो न्ही करना चाहिए
पर दोस्तो सच खु तो मेरा लोड्‍ा तो कुछ ओर ही कह रा था वो
तो कुछ ओर ही चाहता था की आज तो आंटी की गेंड फाड़ दी जाए
फिर मैने ख़्हा ये ग़लत है आंटी वो बोली तू तो उस
दिनदेख रहा था तब ग़लत नही था तब मैं सोचने ल्गा की आंटी
को कैसे पता की मैं देख रहा था पर फिर भी मैने अंजान बन कर कहा मैने कहा कब
वो बोली चोर पकड़ा गया तब से मुझे पता था आज कोई नही है
यहा पर आजा मेरे विसू............आजा.........आंटी
तड़प रही है.....आजा.... पर मुजसे भी तो रहा
नही जा रहा था मैने आंटी को कस क एक बोहट बड़ी वाली किस कर
दिया ओर वो किस चलती ही रहे ब्स ख़तम ही ना हो ऐसा ल्ग रा था
आंटी भी क्या मजे दार थी यारो म्न न्ही था छोड़ने का पर फिर
मैं आंटी को चूमने लगा इधर उधर फिर आंटी बोली पहले दरवाजा बंद
कर दो मेरे राजा मैं दरवाजा बंद कर आया वो बोली फिर फ्रीज़ मे
से मक्खन ले आ जा मे सोचने ल्गा अब माखन किस लिए पर फिर मैं ले आया वो बोली लगा अब मेरे
बूब्स पे मेने बूब्स पर माखन लगाया और रग़ाद रग़ाद क बूब्स को चूसने लगा बड़ा मज़ा
आया आंटी को लाल लाल कर दिया वो बोली राजा अब तू
अपने सारे कपड़े निकाल दे शायद आंटी से र्हा न्ही जा रहा था
मेरा लोड्‍ा देखे बिना मैं नंगा हो गया उसने फिर
मेरा लोड्‍ा हाथ मे लिया और मेरे लोड पर मक्खन लगाया ओर
चूसने लगी दोस्तो भईओ बोहट मजा आरहा था क्यूंकी मेरा लोड्‍ा
पहले कभी किसी ने मूह मे न्ही लिया था ओर माखन क साथ कोई लेगी
ये तो मैने कभी सोचा भी न्ही था बुत भाई लोग तुम भी कभी कर क
देखना माखन क साथ तो जन्नत जैसा ल्ज्ने ल्गता है| पहली बार तो ज़ोर ज़ोर से चूस
रही थी मुझे ऐसा ल्गा की मेरा माल निकल ने वाला है तो मैं बोला आंटी मेरा
निकल ने वाला है क्या करू आंटी बोली डाल दे मूह मे मेरा सारा
माल वो पी गयी मे लेट गया आंटी के बूब्स
दबाने लगा 15 से २० मिनिट तक ऐसे ही चलता रा कभी मे आंटी क नेक पर किस करने ल्गा कभी लिप्स पर किस करने ल्गा साथ मे बूब्स ड़बाने ल्गा ओर अपना लोड्‍ा उपर से रगार्ने ल्गा कभी आंटी की कमर पर किससे कभी निपल को चूसने ल्गा कभी निपल को काटने ल्गा कभी बूब्स लीक सक करने ल्गा ओर बूब्स को काटने ल्गा ओर नेक प्र भी बाइट कर रा था और आंटी की चूत मे से भी पानी आने ल्गा था फिर आंटी बोली राजा अब और इंतेजार न्ही होता मेरगा क्या अपनी आंटी को इतने मे मेरा खड़ा हो गया आंटी ने अपनी भोश की तरफ इस्सारा किया और वो टांगे
फेला कर सो गयी मेरा लोड्‍ा टाइट हो गया था मेने
सूपड़ा भोश पे रखा और शॉट लगे आंटी ने
चीख........निकली........मार गयी......... लगता है आंटी बोहट टाइम
से चुधी न्ही थी तभी आंटी की थोड़ी टाइट हो र्खी थी विसू......निकाल....
...जल्दी.....निकाल.....दर्द...हो रहा है....निकाल......मैं
....नही माना शॉट लगता रहा .....फुचुक.....फुचुक.....
आवाज़ निकल ने लगी ..... फिर मैं आंटी को साथ साथ किस किस करने लगा ओर आंटी क बूब्स ड़बाने ल्गा कभी बूब्स पर किस्सस कभी लिप्स पर किस्सस और आंटी क छूट क उपर रगड़ने ल्गा दोसो आंटी तो ब्स फिर पागल ही हो गयइ थी और बोलने ल्गी आज से तुम ही मेरे पति हो ओर मुझे जब मान चाहे तुम चोदा करो मैं तुम्हे कभी मना न्ही करूँगी औंरी बोली
विसू........मज़ा....आ..रहा ....है ....और तेज चोध...ना
..मूज़े...चोधो......छोढ़ो..... आअहह....अहज....
उईईईई....उईईइ......मज़ा...मज़ा ... ब्स फिर ऐसे ही साथ मे किससे चलने ल्गी आंटी बेड पर थी मैं आंटी की उपर था .हााआ..छोड़ ...अब मैं
झद्ने वाला था मेने कहा कहा डालु आंटी ने कहा
मेरी भोश को ठंडा कर दे मेने सारा माल गिरा
दिया और हम लिपट के सो गये ब्स फिर ऐसे हमारी बीच चलता रहा ऐसे ही हुँने २-३ बार सेक्स किया फिर आंटी को इपल् ला कर खिला दी

तो दोस्तो कॉमेंट ज़रूर क्रे ये खानी केसी ल्गी तो मे ऐसे ही ओर नयी नहयी कहानिया ला कर आपको बीटीये स्कू अब आप अपनी कहानी antarvasna.us@gmail.com पर भेज कर फ्री रीचार्ज ओर पैसे क्मा सकते हो |

» Back
2016 © Antarvasna.Us
Kamukta, Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Sex Kahani, Desi Chudai Kahani, Free Sexy Adult Story, New Hindi Sex Story