AntarVasna.Us
Free Hindi Sex stories
Only for 18+ Readers

ओड़ीसा मे एक महीना - 2

» Antarvasna » Hindi Sex Stories » ओड़ीसा मे एक महीना - 2

Added : 2015-09-03 00:08:20
Views : 6143
» Download as PDF (Read Offline)
Share with friends via sms or email

You are Reading This Story At antarvasna.us

हेलो दोस्तो पिछले भाग मे आप ने पढ़ा की मैं रौरकेला मे 1 महेने के लीए आया हू और मूजे वाहा मॉनीका जैसी दोस्त और रात मे बीबी बन कर मज़्ज़ा देने बाली लड़की
मिल जाती है और आब आगे....

कुछ दिन हम लोगो की चुदायी चलती रही की एक दिन देखा की मॉनीका से मीलने उसकी एक दोस्त आई जिसका नाम सोनी था जब मैं उसको देखा तो एक बार फिर सोचा की यार
रौरकेला मे इतनी खूबसूरती है क्या मस्त माल थी वो क्या बताउ उसकी हाइट मॉनीका से थोरी कम थी लेकिन गोरी तो उस से भी जायदा थी तब उस ने एक काली केफारी
जो सिर्फ़ उसके घुटनो तक ही था और लाल टॉप पहनी हुई थी उसकी फिगर लगभग 34 26 32 होगा |तो मैं मन ही मन सोचने लगा की जब इसके हाथ और पैर इतने गोरे
हैं जो कपारे के बाहर रहती है तो अंदर का भाग कितना गोरा होगा तभी मॉनीका ने मुझे देख लीया और बोला सुसांत इस से मीलो

तो मैं बोला ही सुसांत
तो उस ने अपना हाथ बढ़ाया और बोली सोनी
और उसके हाथ को पकरे ही रह गया तो जब मॉनीका ने बोली तो छोरा और हम बात करने लगे बतो से पता चला वो डिप्लोमा कर रही थी वही से और कुछ देर बात करने
के बाद वो जाने लगी तो मैं बस उसके नितंब को ही देखता रह गया जब वो चल रही थी तो उसके नितंब मस्त लग रही थी और उसकी काफ़री उसके चूतर के बीच
फस गयी तो मेरा मान हुआ की उसको दबा डू लेकिन कुछ कर नही पाया रो मॉनीका से ही काम चलना परा और मॉनीका को ही सोनी समझ कर चोदा

और मॉनीका को बोला यार मैं तुम्हारी उस दोस्त को चोद्ना चाहता हू तो वो बोली कौन सोनी तो वो बोली वो उस तरह के लड़की नही है और जहा तक मैं जानती हू उस ने आब
तक किसी से चूदबाई भी नही है |तब मैं बोला तब तो उसको ज़रूर चोदु गा प्लज़्ज़्ज़ मेरी हेल्प करो ना तो वो बोली ओक करू जी लेकिन क्या करना होगा तो मैं बोला तुम एक
काम करो उसको सेक्स के लीए भरकाओ सो मैने ने उसको अपना लॅपटॉप दीया और उस मे 60 जी.बी पॉर्न मोविए थी |

फिर अगले दिन जब हम दोनो के आलबा कोई नही था दोनो ऑफीस गये थे तभी सोनी आई तो मॉनीका ने उसको मेरे लॅपटॉप मे मूवी दीखने के बहाने पॉर्न लगा के साइड
हो गयी और बाहर आ के मेरे साथ वो भी चुपके से देखने लगीजैसे ही सेक्स स्टार्ट हुआ तो सोनी गरम होने लगी और टी-शर्ट के उपर से अपनी चुची को दबाने लगी
तो मैं भी मॉनीका की चुची को दबाने लगा और उसको बोला कुछ देर मे तुम जाना और उसके साथ लेसबो करना तो मैं देखा की वो अपनी चुची को बाहर नीकाल के
अपने मूह मे चूसने लगी तो मैं मॉनीका को बोला की आब तुम जाओ |तो वो गयी उसकी चुची को दबाने लगी तो वो उस से चीपाक गयी और दोनो लीप किस करने लगे
फिर मॉनीका ने उसकी टॉप को उतार दी और दोनो एक दूसरे की चुचि को दबाने लगी तो मैं पीछे से इसारा कीया की मुझे इसकी चूतर दीखाओ तो मॉनीका ने उसको बेड
से नीचे उतारा और किस करने लगी और और हाथ को पीछे कर के सोनी की चूतर को दबाने लगी और और धीरे-धीरे उसकी केफ़री मे हाथ डाल डी और उसको थोरा
नीचे कर डी जिस से उसकी चूतर हल्की सी दीखी क्या मस्त गोरी थी यार उसकी चूतर फिर मॉनीका ने पूरी केफरी नीचे कर डी और मुझे प्युरे चूतर दीखने लगी
तो मेरा मान उसके चूतर को छूने दबाने और किस करने का मान होने लगा |

सो मैं रूम मे चला गया तो मुझे देखते ही दोनो अलग हो गये और सोनी ने एक चादर को उठा के अपने आप को छुपा ली |
तो मैं बोला क्या हो रहा है यहा तो सोनी डरने लगी तो मॉनीका बोली कुछ नही हम लोग खेल रहे थे तो मैं बोला कापरे खोल कर खेल रही थी ये कौन सा खेल है |
मैं जा रहा हू आंटी को बताने तो दोनो मुझे बोलने लगे की प्लेज़ किसी को मत बताना तो मैं बोला अगर मैं नही बटौगा तो मुझे क्या मीले गा तो दोनो बोली तुम जो
बोलो गे वो मीले गा तो मैं बोला की सोच लो जो मंगु गा वो दोगे |तो दोनो बोले क्या चाहे तो मैं बोला जो तुम लोग कर रहे थे आपस मे मैं भी तुम लोगो के साथ
खेलना चाहता हू |तो सोनी ने पहले माना की लेकिन मॉनीका के समझने के बाद वो मान गयी |

और चुद्ने को रेडी हो गयी तो मैं सोनी को अपनी ओर खीचा और उसके लीप पर किस करने लगा तो सोनी बोली शुसंत अवी मुझे जाना होगा मैं आज रात को आउ गी तो मैं बोला
पका तो वो बोली हा और चली गयी

और रात को वो मॉनीका के रूम मे ही रुक गयी सायेड अपने घर मे कुछ बहाना कर के आ गयी थी तो हम लोग खाना खा के अपने-अपने रूम मे चले गये और मैं सोनी का
इंतजार करने लगा तो कुछ देर बाद मैने देखा की दरबाजे से कोई अंदर आ रहा है तो मैं उठा और दरबाजे के पास ही उसको किस कीया और दरबाजे को बंद कर के उसकी
कमर मे हाथ डाल के बेड पर ले आया और वो बेड पर बैठ गयी और मैं नीचे बैठ कर उसके पैर को सहलने लगा और उस से पूछा आज तक किसी के साथ सेक्स की हो तो
वो बोली नही फर्स्ट टाइम है तो मैं मान मे सोचा चलो बहुत दीनो बाद कुबरी चूत मीले गी और उसके घुटनो पर किस कीया और थोरा उपर उठा के उसकी नाइट ड्रेस को थोरा
खोल दीया और उसकी एक चुची पर बड़े ही प्यार से हल्का सा किस कीया और उसकी निप्पल को अपनी उंगली से हल्का सा दबाया फिर होठ से उसकी निप्पल को किस करने लगा
और बीच-बीच मे कभी उसकी बदन को भी सहला देता था |फिर मैं उठा और बेड पर सोनी के साथ बैठ गया और उसके होठ पर उंगली फेरने लगा और हल्का सा किस
कीया और उसके बाल को हटाया और उसके गाल पे फिर कंधे पर किस कीया और फिर उसकी चुची को किस करने लगा और उसकी दूसरी चुची को भी कपारे के बाहर कर दीया
और एक चुची को चूसने लगा और दूसरी को दबाने लगा |


फिर सोनी की ड्रेस को नीचे से उठाया और उसके दोनो टॅंगो को आलग कर दीया तो उसकू चूत देखने लगी तो मैं उसके दोनो टॅंगो के बीच मे आ गया और चूत को सहलाने लगा
फिर हल्का सा किस कीया और अपनी एक उंगली को चूत के उपर घूमने लगा फिर उंगली मे थोरा थूक लगाया और फिर से घुमाने लगा फिर उसकी चूत को थोरा सा अलग कीया और
और जीभ से चाटने लगा और जीभ को अंदर डाल दीया और अंदर-बाहर करने लगा और वो आआआआआअहहााआअहह उूुुुुुुुुुउऊहहाआआआआ की
आबाज नीकालने लगी तो मैं ज़ोर-ज़ोर से करने लगा फिर उसके दोनो पैर को एक साथ कंधे पर रखा और चूत मे उंगली करने लगा और एक उंगली को हल्का सा डाल के उसको
हीलने लगा



फिर मैं खरा हो गया और अपने कापरे उतार दीया जिस से मेरा लंड बाहर आ गया तो वो बोली इतना बरा तो मैं बोला छू कर देख लो लेकिन वो नही छू रही थी तो मैने उसका
हाथ पाकारा और लंड पे डाल दीया तो वो लंड को सहलाने लगी कुछ देर सहलने के के बाद उसको मूह मे लेने को बोला तो पहले तो माना कर दी फिर हल्का सा किस की और फिर
मूह मे ले ली और उसको चूसने लगी कुछ देर चूसने के बाद मैं उसकी चुची को फिर से चूसने लगा फिर हम दोनो ने जो थोरे भौत कापरे पहने थे वो भी हटा दीए
और उसको बेड पर लीटा कर उसके दोनो पैर को उठा कर उसकी चूत मे पहले एक उंगली कीया और दो और कुछ देर के बाद उसकी चूत चूसने लगा और फिर जब उसकी चूत गीली
हो गयी तो अपने लंड को उस पे रगार्ने लगा और लंड को अंदर डालने की कोसिस करने लगा तो उसके मूह से आआआआअहहाआआआआ की आबाज आए लेकिन मेने फिर भी डाल
दीया और उसके मूह से आआआआआआआआआआआआआआअहहाआआआआआआआआआआआआआआआआआआआ की आबाज आई तो मैने अपना होठ उसके होठ पे डाल दीया और मेरा
लंड खून से लाल हो गया तो मैं अंदर-बाहर करने लगा कुछ देर करने के बाद उसको घोड़ी बनाया और उसकी चूत को साफ कीया और फिर से लंड को डाल दीया
और ज़ोर-ज़ोर से झटके मरने लगा



फिर मैं बेड पर लेट गया और वो लंड पर बैठ गयी तो मैं उसके चूतर को पकर के लंड को अंदर-बाहर करने लगा और बीच-बीच मे उसकी चुची पर भी किस कर ले रहा
था |और फिर मैं ज़ोर ज़ोर से झटके मरने लगा और फिर हम दोनो अलग हुए और मैं और वो लंड को पाकर के हीलने लगी और जब मैं झरने बाला था तो अपने मूह मे ले ली
और सारा माल पी गयी फिर हम लोग कुछ देर आराम कीए और फिर से चुदाई कीए उस रात मैने सोनी को 3 बार चोदा
और सुबह तक सोनी की चूत एकदम लाल हो गयी थी फिर सुबह वो मॉनीका के रूम मे चली गयी |
उसके बाद मैने ने अगली रात को मॉनीका और सोनी को एक साथ चोदा इसको जानने के लीए मेरी अगली कहानी का इंतजार कीजीए |

तो दोस्तो आप को कुबरी सोनी की चुदाई कैसी लगी मूज़े जबाब ज़रूर देना मूज़े आप के मेल का इंतजार रहे गा
आप को मेरी कहानी कैसी लगी और अगर आप के कुछ सबाल हो तो आप मूज़े मेल कर सकती है|

» Back
2016 © Antarvasna.Us
Kamukta, Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Sex Kahani, Desi Chudai Kahani, Free Sexy Adult Story, New Hindi Sex Story